Health Care Tips: लिवर से जुड़ी बुमारिया होती है बेहद खतरनाक, इसे हेल्दी रखने के लिए इन बातों का रखे ध्यान !

 
Liver
लिवर हमारे शरीर के सबसे महत्वपूर्ण अंगों में से एक है. पेट और आंतों से निकलने वाला सारा खून लिवर से होकर गुजरता है. लिवर में ही खून को डिटॉक्सीफाई किया जाता है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, हर साल 10 लाख भारतीय लिवर सिरोसिस का शिकार हो रहे है. ये शरीर का प्रमुख मेटाबोलिक अंग है. शरीर के सम्पूर्ण स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने के लिए लिवर (Liver) की अच्छे से देखभाल करना और इसे स्वस्थ रखना बहुत जरूरी हो जाता है. इसमें आई थोड़ी से भी परेशानी से शरीर को कई बीमारियां हो सकती हैं. पिछले कुछ सालों से लिवर सिरोसिस (Liver Cirrhosis) और फैटी लिवर (Fatty Liver) जैसी बीमारियां काफी आम हो गई है. ऐसे में इससे बचाव करना बहुत जरूरी है. आइए इस लेख के माध्यम से आपको बताएंगे एक्सपर्ट द्वारा बताए गए लीवर को स्वस्थ रखने के तरीके -
* संतुलित डाइट का सेवन करें :
आप अपने खानपान में अनाज, फल, सब्जियां, मांस और बीन्स, दूध और तेल आदि को खाएं. फाइबर युक्त भोजन करें. फाइबर आपके लिवर को बेहतर स्तर पर काम करने में मदद करता है।
* नियमित रूप से करें एक्सरसाइज :
Liver
अपने आप को शारीरिक रूप से सक्रिय रखने से न केवल आपका वजन सही बना रहता है बल्कि आपके शरीर को कई तरह का लाभ मिलता है. नियमित एक्सरसाइज करने से ब्लड प्रेशर सही रहता है और हार्ट का स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है. रोजाना एक्सरसाइज करने से लिवर को स्वस्थ रखा जा सकता है।
* खुद को हाइड्रेट रखें
समय समय पर लगातार पानी पीना शरीर के लिए अच्छा होता है. दिन में आठ गिलास पानी पीने का लक्ष्य रखना चाहिए. पानी लिवर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है, जिससे लिवर की बीमारी होने का खतरा कम होता है. पानी का सेवन दिन में कितना करना चाहिए यह स्वास्थ्य, जलवायु, मौसम, महिला, पुरुष और अन्य अन्य स्वास्थ्य स्थितियों पर निर्भर करता है।
* नियमित रूप से करते रहे लिवर के कार्य कि जांच :
लिवर फंक्शन पैनल एक ब्लड टेस्ट होता है जो डॉक्टरों को लीवर की चोट, संक्रमण या बीमारी की जांच करने में मदद करता है. अगर आपको लिवर की बीमारी के लक्षण हैं तो आपको लिवर फंक्शन टेस्टिंग की जरुरत हो सकती है। इन लक्षणों में पीलिया शामिल होता है। पीलिया एक ऐसी स्थिति होतीहै जिसके कारण आपकी त्वचा और आंखें पीली हो जाती हैं। इसके अलावा मतली और उल्टी होना भी इन लक्षणों में शामिल है।
* शराब के सेवन से रहें दूर :
अगर आप कुछ दिनों के लिए भी ज्यादा मात्रा में शराब पीते हैं तो लिवर में फैट का निर्माण हो सकता है. इसे अल्कोहलिक फैटी लिवर बीमारी कहा जाता है. यह लिवर सिरोसिस का पहला स्टेज होता है. फैटी लिवर बीमारी के लक्षण बहुत ही कम दिखते हैं, इससे बचने के लिए जरूरी है कि शराब का सेवन न करें।