आज होगा एससीओ शिखर सम्मेलन, समरकंद पहुंचे कई देशों के प्रमुख

 
hh

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक में भाग लेने के लिए उज्बेकिस्तान गए हैं. उज्बेकिस्तान के प्रधानमंत्री अब्दुल्ला अरिपोव, समरकंद के राज्यपाल और वरिष्ठ अधिकारियों ने उनके आगमन पर उनका गर्मजोशी से स्वागत किया। दरअसल, पीएम मोदी एससीओ समिट में हिस्सा लेने के साथ-साथ उज्बेकिस्तान के राष्ट्रपति और समिट में हिस्सा लेने वाले कई नेताओं के साथ द्विपक्षीय बैठक करेंगे। आपको यह भी बता दें कि इस बैठक में रूस, चीन और पाकिस्तान के राष्ट्राध्यक्ष भाग ले रहे हैं। उम्मीद की जा रही है कि पीएम मोदी की रूसी राष्ट्रपति पुतिन और चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग के साथ अलग-अलग बातचीत हो सकती है।

शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ और ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रायसी शामिल होंगे। रिपोर्टों के अनुसार, शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के आठ सदस्य चीन, रूस, भारत, पाकिस्तान, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान हैं। इतना ही नहीं, इसके अलावा चार पर्यवेक्षक देश अफगानिस्तान, बेलारूस, ईरान और मंगोलिया हैं। छह संवाद साझेदार आर्मेनिया, अजरबैजान, कंबोडिया, नेपाल, श्रीलंका और तुर्की हैं। SCO का मुख्यालय चीन की राजधानी बीजिंग में है।

क्षेत्रीय बहुपक्षीय संगठन 2001 में रूस, चीन, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान और उजबेकिस्तान के सदस्यों के साथ स्थापित किया गया था, जबकि भारत और पाकिस्तान 2017 में पूर्ण सदस्य बने। आपको बता दें कि इस बार एससीओ शिखर सम्मेलन भारत के लिए बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि भारत सितंबर 2023 में होने वाले अगले शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता करेंगे। चीन, रूस और पाकिस्तान के नेताओं के इसमें भाग लेने की उम्मीद है।