दो शादियां कर चुकीं विद्या सिन्हा की दर्दनाक लव लाइफ, पति पर दर्ज कराया उत्पीड़न का केस

 
f

विद्या सिन्हा अपने समय की सबसे लोकप्रिय अभिनेत्रियों में से एक हैं। अभिनेत्री को कई प्रमुख हिट बॉलीवुड फिल्मों में चित्रित किया गया है। उनका जन्म 15 नवंबर 1947 को मुंबई में हुआ था और उन्होंने 18 साल की उम्र में अपने करियर की शुरुआत की थी। उन्होंने मिस बॉम्बे का खिताब जीता था, जिसके बाद उन्होंने अपने जीवन को अभिनय में स्थानांतरित करने का फैसला किया था। अभिनेत्री ने छोटू बिहारी की फिल्म राज काका से अपनी शुरुआत की और तब से, उन्हें कभी पीछे मुड़कर नहीं देखना पड़ा। जहां एक तरफ विद्या की प्रोफेशनल लाइफ काफी अच्छी रही वहीं दूसरी तरफ उनकी पर्सनल लाइफ और लव लाइफ ट्रुमैटिक है।

विद्या सिन्हा को अपने पड़ोसी वेंकटेश्वर अय्यर से प्यार हो गया था। वह एक तमिल ब्राह्मण परिवार से थे। विद्या और वेंकटेश्वर की शादी 1968 में हुई थी। इसके बाद 1989 में उन्होंने जाह्नवी नाम की लड़की को गोद लिया। विद्या के पति वेंकटेश्वर अय्यर बीमार हो गए। वह दिन-रात अपनी बेटी और पति की सेवा करती थी। लेकिन उनके प्रयास नस में चले गए वेंकटेश्वर अय्यर का लंबी बीमारी के बाद 1996 में निधन हो गया।


अपने पति की मृत्यु के बाद, अभिनेत्री सिडनी चली गई। वहां उनकी मुलाकात ऑस्ट्रेलियाई डॉक्टर नेताजी भीमराव सालुंके से हुई। दोनों ने शादी करने का फैसला किया। उन्होंने एक मंदिर में शादी की। अपने दूसरे पति के साथ उनका वैवाहिक जीवन बहुत ही दर्दनाक था। 9 जनवरी 2009 को विद्या ने अपने दूसरे पति नेताजी भीमराव के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। विद्या ने अपने पति पर शारीरिक और मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाया था। मामला दर्ज करने के तुरंत बाद विद्या और नेताजी भीमराव का तलाक हो गया। कोर्ट में लंबी लड़ाई के बाद विद्या ने भरण-पोषण का केस जीत लिया।

करियर के मोर्चे पर, विद्या सिन्हा ने रजनीगंधा, पति, पत्नी और वो, इंकार, छोटी सी बात और कई अन्य फिल्मों में काम किया है। उन्होंने कुछ टीवी सीरियल्स में भी काम किया था। उन्हें हाल ही में कुबूल है, इश्क का रंग सफेद, चंद्र नंदिनी में चित्रित किया गया था। विद्या सिन्हा ने लीवर और दिल की बीमारी से पीड़ित होने के बाद 2019 में आखिरी सांस ली थी।