ट्रैजिक लव लाइफ से लेकर रहस्यमयी मौत तक, परवीन बाबी ने एक बार अमिताभ बच्चन पर उन्हें मारने की कोशिश करने का आरोप लगाया था

 
ss

परवीन बाबी किसी परिचय की मोहताज नहीं हैं। वह अपने समय की सबसे खूबसूरत, लोकप्रिय और सबसे ज्यादा फीस लेने वाली अभिनेत्रियों में से एक थीं। एक ओर, वह अपने करियर में सभी सफलता प्राप्त करती है। वहीं दूसरी तरफ उनका निजी जीवन त्रासदी से भरा है। उनकी पुण्यतिथि पर एक नज़र उनके दुखद निजी जीवन से लेकर उनकी रहस्यमयी मौत तक के उनके सफर पर।

परवीन जब 10 साल की थीं तभी उनके पिता का निधन हो गया था। 1972 में मॉडलिंग में अपना करियर शुरू करने के बाद उन्होंने फिल्मों में काम करना शुरू किया। परवीन के करियर की पहली फिल्म 1973 में चरित्र थी। यह फिल्म अच्छी कमाई करने में असफल रही लेकिन इसके बाद उन्हें कई फिल्में मिलीं और बॉलीवुड में उनका सफर शुरू हो गया। इसके बाद वह मजबूर, दीवार, काला पत्थर, द बर्निंग ट्रेन, शान, कालिया, नमक हलाल, काला सोना, चांदी सोना, ये निर्देशियां, महान, आशांति, अर्पण, रजिया सुल्तान, अविनाश और इरादा जैसी फिल्मों में नजर आईं। साल 1991 में उन्होंने आखिरी बार फिल्म में काम किया।


दुखद प्रेम जीवन

उनका पेशेवर जीवन सफलता से भरा है जबकि निजी जीवन में वह अकेली ही रहीं। परवीन बाबी के कई अभिनेताओं के साथ अफेयर रह चुके हैं। उन्होंने सबसे पहले डैनी डेन्जोंगपा को डेट किया जिन्होंने ज्यादातर फिल्मों में विलेन का किरदार निभाया था। वे करीब 4 साल तक रिलेशनशिप में रहे। इसके बाद वह कबीर बेदी के करीब आ गईं। इनका रिश्ता भी ठीक नहीं रहा और दोनों अलग हो गए। कबीर बेदी से ब्रेकअप के बाद परवीन बाबी को शादीशुदा महेश भट्ट से प्यार हो गया लेकिन महेश भट्ट ने भी उन्हें मानसिक रूप से बीमार बताकर छोड़ दिया।

उसकी रहस्यमय मौत और बीमारी

परवीन बाबी को सिजोफ्रेनिया नाम की बीमारी थी। कई रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि इस बीमारी की वजह से 20 जनवरी 2005 को उनकी मौत हो गई थी। परवीन बाबी ने एक बार कथित तौर पर अमिताभ बच्चन के खिलाफ पुलिस शिकायत दर्ज की और उन पर उन्हें मारने की कोशिश करने का आरोप लगाया, जिसे बाद में अदालत ने आगे बढ़ाया। परवीन बाबी द्वारा लगाए गए आरोपों के खिलाफ अमिताभ बच्चन को अदालत ने क्लीन चिट दे दी थी और इतना ही नहीं, अभिनेत्री को सिज़ोफ्रेनिया का पता चला था।

प्राथमिकी में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन सहित अन्य 34 नामजद भी शामिल हैं। उसकी रहस्यमय मौत ने सभी को सदमे में डाल दिया। तीन दिन तक किसी को इसकी भनक तक नहीं लगी। रिपोर्ट्स के मुताबिक, तीन दिन से उनके घर के बाहर दूध और अखबार पड़े हुए थे। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक, उसने कुछ शराब पी रखी थी और खाना भी खाया था। इसके अलावा कुछ नहीं।