इस वजह से मीना कुमारी ने हमेशा छुपाया अपना एक हाथ, 3 बच्चों के पिता से की शादी

 
hh

बॉलीवुड की ट्रेजडी क्वीन कही जाने वाली मीना कुमारी का जन्म 1 अगस्त 1933 को मुंबई में हुआ था। मीना के पिता मास्टर अली बख्श मुस्लिम थे जबकि उनकी मां बंगाली ईसाई थीं। जी हां और मीना कुमारी के माता-पिता ने उनका नाम महजबीन रखा था, हालांकि इंडस्ट्री में आने के बाद उनका नाम मीना कुमारी हो गया। मीना कुमारी अपने माता-पिता की दूसरी बेटी थीं और उनके पिता अली बख्श के जन्म से बहुत दुखी थे क्योंकि उन्हें एक बेटा चाहिए था। आपको बता दें कि मीना कुमारी ने कम उम्र से ही एक्टिंग की दुनिया में कदम रख दिया था। दरअसल, साल 1939 में फिल्म लेदरफेस रिलीज हुई थी और इस फिल्म में वह बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट नजर आई थीं।

फिल्म के पहले दिन मीना कुमारी को 25 रुपये दिए गए और मीना कुमारी ने उसके बाद पाकीजा, साहिब बीबी और गुलाम, दिल अपना और प्रीत पराई, बीजू बावरा, फूल और पत्थर, कोहिनूर, परिणीता, मेरे अपने, सहित कई फिल्मों में काम किया। सांझ और सवेरा, दो बीघा जमीन और बहारों की मंजिल। अभिनेत्री ने अपने करियर में लगभग 92 फिल्मों में अभिनय किया। अब अगर पर्सनल लाइफ की बात करें तो अशोक कुमार ने कमल अमरोही से फिल्म तमाशा के सेट पर मुलाकात की थी। वहीं बाद में उन्होंने अपनी अगली फिल्म अनारकली के लिए मीना कुमारी को लीड रोल ऑफर किया। उसके बाद 21 मई 1951 को महाबलेश्वर से मुंबई लौटते समय मीना कुमारी की कार का एक्सीडेंट हो गया। इस हादसे में मीना कुमारी का बायां हाथ घायल हो गया और हाथ की छोटी उंगली टूट गई। इस वजह से उनकी उंगली का आकार भी पूरी तरह बदल गया था।


हालांकि फिल्मों में मीना कुमारी हमेशा अपने बाएं हाथ को दुपट्टे या साड़ी से छिपाती थीं। 14 फरवरी 1952 को 18 साल की मीना कुमारी ने 34 साल के कमाल अमरोही से गुपचुप तरीके से शादी कर ली। कमाल अमरोही पहले से शादीशुदा थे और तीन बच्चों के पिता थे। हालाँकि बाद में दोनों अलग हो गए, लेकिन उनका कभी तलाक नहीं हुआ। मीना कुमारी की मृत्यु 31 मार्च 1972 को हुई थी और उनकी मृत्यु का कारण लीवर सिरोसिस बताया गया था। कहा जाता है कि उसे शराब का शौक हो गया था और वह खूब शराब पीने लगी थी।