आरबीआई ने रद्द किया इस बैंक का लाइसेंस, यहां देखें

 
gg

नई दिल्ली: भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने महाराष्ट्र के यवतमाल में बाबाजी दाते महिला सहकारी बैंक का लाइसेंस रद्द कर दिया है। बताया गया है कि इस बैंक में कमाई की कोई संभावना नहीं थी। आरबीआई ने इस बैंक में कई तरह के काम पर रोक लगा दी है। अब इसके खाताधारक पैसे जमा या निकाल नहीं सकते हैं। वहीं, बैंक अब बैंकिंग से जुड़ा कोई भी काम नहीं कर सकता है।

रिपोर्ट के मुताबिक, आरबीआई को 'बैंकिंग' का कारोबार करने से रोक दिया गया है। आरबीआई ने बताया है कि इस बैंक के पास पर्याप्त पूंजी और कमाई की क्षमता नहीं है। ऐसे में बैंक का संचालन करना ठीक नहीं है। वहीं, आरबीआई ने यह भी कहा कि वह बैंकिंग विनियमन अधिनियम, 1949 की धारा 56 की धारा 11 (1) और धारा 22 (3) (डी) के प्रावधानों का पालन नहीं करता है। ऐसे में यह बैंक करता है। पर्याप्त पूंजी नहीं कमाते। इसके अलावा, यह बैंक धारा 22(3)(ए), 22(3)(बी), 22(3)(सी), 22(3)(डी) और 22(3)( इ)।

रेलवे बैंक की जांच में सामने आया है कि बैंक का बने रहना उसके जमाकर्ताओं के हित में नहीं है। यदि बैंक को अपने बैंकिंग व्यवसाय को और आगे ले जाने की अनुमति दी जाती है, तो जनहित पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा। आरबीआई ने अपने आदेश में कहा था कि बैंक अपनी मौजूदा वित्तीय स्थिति के कारण अपने मौजूदा जमाकर्ताओं को पूरा भुगतान नहीं कर पाएगा। प्रत्येक जमाकर्ता डीआईसीजीसी अधिनियम, 1961 के प्रावधानों के अधीन जमा बीमा और क्रेडिट गारंटी निगम (डीआईसीजीसी) से 5 लाख रुपये की मौद्रिक सीमा तक जमा बीमा दावा प्राप्त करने का हकदार होगा। जमाकर्ताओं का लगभग 79% यह बैंक डीआईसीजीसी से अपनी जमा राशि की पूरी राशि प्राप्त करने का हकदार है।