गणेश जी का एक ऐसा मंदिर, जहाँ जाते हैं सिर्फ प्रेमी जोड़े

 
b

गणेश चतुर्थी से गणेश उत्सव प्रारंभ हो गए हैं। सभी गणेश मंदिरों में गणेशजी के भक्तों की भीड़ देखने को मिलेगी लेकिन राजस्थान में एक ऐसा मंदिर हैं जहां पर ऐसे लोगों की भीड़ उमड़ रही है जो अपने जीवन में जीवनसाथी की कामना से इस मंदिर में आते हैं। खासकर प्रेमी जोड़े यहां पर मन्नत मांगने आते हैं। यह मंदिर राजस्थान के जोधपुर में स्थित यह मंदिर 'इश्किया गणेश मंदिर' के नाम में प्रसिद्ध है। ऐसी मान्‍यता है कि इश्किया गणेश के दर्शन मात्र से ही विवाह की बाधाएं दूर हो जाती है और प्रेमियों को अपनी पसंद का जीवनसाथी मिलता है।

कहते हैं कि यहां के गणेशजी हर प्रेमी-प्रेमिका की मन्नत पूर्ण करते हैं। हर साल गणेश चतुर्थी को यहां मेला लगता है और बड़ी संख्या में प्रेमी-प्रेमिका अपनी मुरादें लेकर यहां लेकर पहुंचते हैं। लोगों का कहना है कि इस गणेश मंदिर की स्थापना करीब 100 साल पहले हुई थी। शहर की एक गली गुरु गणपति नाम से इस मंदिर की स्थापना की गई थी। यह मंदिर ऐसी संकरी जगह पर है कि यहां पर दूर से किसी की एकदम नजर नहीं जाती है। 

पहले यहां पर प्रेमी युगल चोरी-छुपे पहली मुलाकात के लिए आते थे। धीरे-धीरे यह मंदिर प्रेमियों के बीच लोकप्रिय हो गया। सभी प्रेमी जोड़े यहां पर विवाह की कामना से अर्जी लगाने आते हैं। यहां अक्सर बुधवार को प्रेमियों भी भीड़ देखी जा सकती है। कई तो विवाह की अर्जी लगाने आते हैं और कई विवाह का निमंत्रण कार्ड देने वाते हैं। यह मंदिर सुबह 5 बजे से दोपहर 12 बजे तक और शाम 5.30 बजे से रात 9 बजे तक खुलता है, लेकिन बुधवार को रात 11 बजे खुला रहता है।