बेटे की मौत से आहत हुआ पिता, सड़क के गड्ढों को भरने का लिया प्रण

Monday, 06 Aug 2018 01:42:20 PM
बेटे की मौत से आहत हुआ पिता, सड़क के गड्ढों को भरने का लिया प्रण
Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

ऑफबीट डेस्‍क। आमतौर पर इंसान की जिंदगी के हर मोड पर ढेरों हादसे होते रहते हैं। अगर इंसान इन हादसों से सबब लेकर कुछ कर गुजरने की ठान लें तो ये हर व्‍यक्ति की जिंदगी से जूडे हर मायनें को बदल देता हैं। कई बार इंसान के साथ ऐसे हादसें हो जाते हैं जो वो पूरी जिंदगी भूल नही पाता और ऐसे हादसें की कल्‍पना मात्र से ही हर इंसान सिहर उठता हैं। ये हादसें इंसान को इस तरह आहत कर देते हैं कि वो पूरी तरह टूट चूका होता हैं मगर कई बार ऐसे हादसे इंसान की जिंदगी में एक सकारात्‍मक परिवर्तन लाते हैं और वो ऐसी परिस्थितियों को बदलने की ठान लेता हैं जिसके चलते उसे ऐसे हालात का सामना करना पडा हैं।

मुंबई के रहने वाले दादा रॉव भिलोरे ने एक ऐसे ही रास्‍ते को चुन लिया हैं। दरअसल दादा रॉव भिलोरे ने जिंदगी के इस चुनौतिपूर्ण सफर में एक ऐसी परिस्थिति का सामना किया हैं जो कोई भी पिता नही करना चाहेगा। तकरिबन 3 साल पहले एक सडक दुर्घटना में दादा रॉव भिलोरे के 16 साल वर्षीय बेटे की मौत हो गई और इसी हादसें से सबब लेकर इस शख्‍स ने एक प्रण लिया जो आम इंसान के लिए काफी मुश्किल और चुनौतिपूर्ण होता हैं। इस प्रण के अनुसार दादा रॉव भिलोरे ने सडकों पर दिखाई देने वाले उन सभी गडडों को भरने का निर्णय लिया जिसके चलते एक आम राहगीर को दुर्घटना का सामना करना पड सकता हैं। इस प्रण का पालन करते हुए मुंबई के रहने वाले दादा रॉव भिलोरे ने अब तक लगभग 556 गड्ढों को हमेशा के लिए बंद कर दिया हैं।

दरअसल 3 साल पहले मुंबई निवासी दादा रॉव भिलोरे के बेटे प्रकाश जोगेश्वरी की एक सडक दुर्घटना में मौत हो गई थी। प्रकाश जोगेश्वरी दुर्घटना के वक्‍त विकरोली रोड़ पर मोटरसाइकिल चला रहा था और उसी वक्‍त रास्‍ते में एक गड्ढा आ गया। इस गड्ढें से बचने के प्रयास में 16 साल के प्रकाश जोगेश्वरी की बाइक दुर्घटना ग्रस्‍त हो गई और उस हादसें ने एक बाप से अपने बेटे को छिन लिया। इस हादसें से दादा रॉव काफी आहत हुये और उन्‍होनें प्रण लिया कि वे मुंबई की ज्‍यादातर सडकों के गड्ढों को पूरी तरह भर देंगें। दादा रॉव ने ये फैसला ऐसे हादसों को टालनें के चलते लिया। देश में साल-दर-साल ऐसे गड्ढों से कई हादसें होते हैं और बारिश के सीजन में ये काफी बढ जाते हैं। सरकारी महकमें की उदासिनता और आम लोगो को जागरूक करने के लिए दादा रॉव भिलोरे जैसे लोगो की कोशिशों में कंधे से कंधा मिलाकर चलने की जरूरत हैं।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures