नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार के सीधी भर्ती के फैसले को बताया सही

Tuesday, 12 Jun 2018 12:43:13 PM
नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार के सीधी भर्ती के फैसले को बताया सही
Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंटरनेट डेस्क: केंद्र सरकार ने अनुभवी पेशेवरों को संयुक्त सचिव के स्तर पर सीधी भर्ती के निर्णय पर विपक्ष ने मोदी सरकार पर आरोप लगाए और कहा की यह मोदी सरकार की विफलता का परिणाम बताया है। लेकिन बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने कहा कि विभिन्न मंत्रालयों में संयुक्त सचिव के पद पर अनुभवी एवं पेशेवर लोगों की सीधी भर्ती करने के लिए जारी विज्ञापन को लेकर संदेह है। विपक्ष के आरोपों का जवाब देते हुए केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिह ने सरकारी शैक्षणिक संस्थानों में भी सीधी भर्ती को सही बताया और कहा की इस मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए।

लेकिन मानव संसाधन राज्यमंत्री ने कहा कि इस योजना से शैक्षणिक संस्थानों की क्षमता में सुधार लाने के लिए यह कदम सही है।केंद्र सरकार के इस फैसल के बाद विपक्ष ने मोदी सरकार पर तानशाह होने का आरोप लगाते हुए  कांग्रेस प्रवक्ता पी एल पुनिया ने कहा कि केंद्र सरकार अपनी पार्टी से जुड़े लोगों को भर्ती करने का प्रयास कर रही है। नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार के इस फैसले को सही बताते हुए कहा की देश में आईएएस और आईपीएस अधिकारियों की कमी के कारण और काम को तय समय सीमा में पुरा करने के लिए इसे प्रयोग के तौर पर ये योजना लाई गई है।

सरकार ने वरिष्ठ स्तर पर नौकरशाही के पदों पर निजी क्षेत्र में काम कर रहे प्रतिभावान लोगों को लाने की इस पहल से राजनीतिक विवाद खड़ा हो गया है। विपक्ष ने आरोज लगाया की यह प्रशासनिक स्तर पर 'संघियों’ की भर्ती करने का मोदी सरकार ने एक योजना बनाई है।विपक्ष ने आरोप लगाया की सरकार की इस पहल से नीति निर्माण में पूंजीवादियों का प्रभाव बढ़ेगा और वरिष्ठ स्तर पर नौकरशाही के पद पर ऐसे लोगों के लिए खोला जा रहा है जिन्होंने यूपीएससी परीक्षा पास नहीं की है। 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures