राम मंदिर के नाम पर कुर्बान हुई थी कल्याण की सरकार

Thursday, 06 Dec 2018 12:53:18 PM
राम मंदिर के नाम पर कुर्बान हुई थी कल्याण की सरकार

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंटरनेट डेस्क। इन ​देश में राम मंदिर को लेकर बहुत ज्यादा चर्चा हो रही है और आज ही के दिन 26 साल पहले यानी 6​ दिसंबर 1992 को अयोध्या में बाबरी मस्जिद को गिराया गया था। इस विवाद के बाद से अब देश में आज भी राम मंदिर को लेकर हमेशा राजनीति होती आ रही है। आज हम आपको राम मंदिर से जुड़े लोगों के बारे में बताने जा रहे हैं और जो उस समय इस आंदोलन के प्रमुख चेहरे थे। राम मंदिर को लेकर यूपी के सीएम कल्याण सिंह ने अपनी सरकार को भी दाव पर लगा दिया था। राम मंदिर को लेकर को नेता ​थे वह भाजपा के बड़े नेताओं की लिस्ट में आते थे।


6 दिसंबर: आज से 26 साल पहले ऐसे ध्वस्त हुई थी बाबरी मस्जिद

राम मंदिर को बनाने के लिए देश भर के कारसेवकों ने अयोध्या में जाकर बाबरी मस्जिद को तोड़ दिया था और इसके बाद देश की राजनीति में राम नाम को लेकर भाजपा ने लोकसभा का चुनाव तक लड़ा था। इस समय सबसे बड़ा लाल कृष्ण आडवाणी का था जो इस आदोलन के मुख्य नेता के रूप में जाने जाते थे। आडवाणी पर बाबरी विध्वंस के षड्यंत्र का आरोप हैं और यह मामला कोर्ट में चल रहा है। 

इस रहस्यमयी शहर के लोग आत्माओं से करते है बातें!

इस आंदोलन में कल्याण सिंह का नाम भी बहुत ज्यादा था क्योंकि उन्होंने शपथ में कहा था की उनके राज्य में उनके सीएम होते हुए कोई मस्जिद को नुकसान नहीं पहुंचा सकता। लेकिन ऐसा नहीं हुआ और कारसेवकों ने मस्जिद को तोड़ दिया और केंद्र ने ​यूपी की सरकार को बर्खास्त कर दिया था। सरकार भंग होने के बाद कल्याण सिंह ने कहा की हमारी सरकार राम के नाम पर बनी थी और अब वह राम के नाम पर बली पर चढ़ी है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures