loading...

जोड़ों के दर्द और नसों के ब्लॉकेज से छुटकारा पाने के लिए सर्दियों में खाएं सरसों का साग

Friday, 11 Jan 2019 02:43:02 PM
जोड़ों के दर्द और नसों के ब्लॉकेज से छुटकारा पाने के लिए सर्दियों में खाएं सरसों का साग

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

जाड़े के दिनों में गुनगुनी धूप खिली हो और दोपहर के खाने में गर्मागर्म सरसों का साग और मक्के की रोटी परोसी जाए। वाह! ठंड के मौसम में इससे बेहतर भोजन भला क्या हो सकता है। ठंड का नाम लेते ही जोड़ों के दर्द और नसों की समस्या शुरू हो जाती है, इसके लिए सरसों का साग कितना फायदेमंद है, यह जानने के लिए इस स्टोरी को जरूर पढ़ें। 

loading...

पौष्टिक तत्‍वों से भरपूर सरसों के साग

सरसों के साग में मिनरल्स, एंटीऑक्सिडेंट्स, फाइटोन्यूट्रिएंट्स, फाइबर और विटामिन्स की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। पोषक तत्वों की आपूर्ति तथा कैलोरी की कम मात्रा के चलते सरसों का साग वजन कम करने में भी सहायक है। साग में घुलनशील और अघुलनशील फाइबर होने के कारण यह शरीर का मेटाबॉलिज्म ठीक रखता है। सरसों के साग में मौजूद मिनरल्स और विटामिन्स रक्तसंचार को चुस्त दुरूस्त रखने में मदद करते हैं। इस प्रकार सरसों का साग खाने से नसों में ब्लॉकेज की आशंका कम हो जाती है।  

जोड़ों के दर्द से छुटकारा दिलाता है सरसों का साग

सरसों के साग में मैग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन-ए, सी, डी, बी12, फाइबर, पोटैशियम और शुगर की भरपूर मात्रा होती है। सरसों के साग में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स शरीर से टॉक्सिन यानी विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने का काम करते हैं। सर्दियों में जिन लोगों को जोड़ों का दर्द रहता है, उन्हें सरसों का साग खाना चाहिए।

सरसों के साग में फाइबर की प्रचुर मात्रा पाई जाती है, इसलिए यह पाचनतंत्र को दुरूस्त रखता है। इसमें मौजूद पोटैशियम और कैल्शियम हड्डियों को स्वस्थ्य रखते हैं। गौरतलब है कि सरसों का साग खाने से आंतों की सफाई जाती है तथा शरीर का मेटाबॉलिज्म ठीक रहता है। इतना ही नहीं यह कब्ज, एसिडिटी और पेट की अन्य बीमारियों से दूर रखता है। 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

loading...