loading...

वजन कम करने के लिए इन घरेलू उपचारों का पालन करें

Wednesday, 09 Oct 2019 01:59:27 PM

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

loading...

काले जीरे का भी अपना एक विशेष स्थान है। इसमें कई औषधीय गुण भी हैं, जो इसके महत्व को और बढ़ाता है। जानिए इसके कई औषधीय गुण।

यह ध्यान देने योग्य है कि काले जीरे को रसोई में इस्तेमाल होने वाले मसालों में भी प्रमुखता से शामिल किया जाता है, जो घर पर इस्तेमाल होने वाला जीरा है। लेकिन इसमें स्वाद में थोड़ी कड़वाहट होती है और इसे सदियों से छोटी-मोटी बीमारियों के इलाज के लिए हर्बल औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है।

आइए जानते हैं कि इसकी क्या विशेषताएं हैं, जो इसे सामान्य जीरे से अलग बनाती हैं: तीन महीने तक काले जीरे के नियमित सेवन से शरीर में जमा अनावश्यक चर्बी को कम करने में बड़ी सफलता मिलती है। काला जीरा शरीर में फैले कचरे (मल और मूत्र) के माध्यम से वसा को बाहर निकालने में सहायक होता है। इस तरह, यह आपको फिट बनाने में मददगार साबित होता है। इसके मूत्रवर्धक प्रभाव के कारण, इसके नियमित सेवन से वजन कम करने में भी मदद मिलती है।

काला जीरा अपने रोगाणुरोधी गुणों के कारण पेट की कई समस्याओं में फायदेमंद है। यह पाचन गड़बड़ी, गैस्ट्रिक, पेट फूलना, पेट में दर्द, दस्त, पेट के कीड़े आदि की समस्याओं में बहुत राहत देता है। देर से पचने वाले भोजन के बाद थोड़ा सा काला जीरा खाने से तत्काल लाभ मिलता है। यह कब्ज को खत्म करके पाचन को सुचारू करता है। साथ ही सर्दी, जुकाम, खांसी, नाक की भीड़ या सांस की तकलीफ में भी काले जीरे का सेवन बहुत फायदेमंद होता है।

यह शरीर से बलगम को हटाने में मदद करता है। काला जीरा भी कफ से अवरुद्ध नाक के लिए इन्हेलर का काम करता है। ऐसी स्थिति में थोड़ा सा भुना हुआ जीरा रूमाल में बांधकर सूंघने से आराम मिलता है। यह अस्थमा, पर्टुसिस, ब्रोंकाइटिस, सांस से संबंधित बीमारियों में भी फायदेमंद है। काले जीरे का सेवन स्वाइन फ्लू और वायरल जैसे बुखार के इलाज में भी फायदेमंद है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


loading...