loading...

लोकसभा चुनावों में फिर गरमाया राफेल का सौदा

Monday, 15 Apr 2019 09:16:53 AM
लोकसभा चुनावों में फिर गरमाया राफेल का सौदा

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंटरनेट डेस्क। लोकसभा चुनावों से पहले देशभर में राफेल सौदे को लेकर विपक्ष ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला था और यह मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया है। इन दिनों देश भर में लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए सभी पार्टियां जमकर प्रचार कर रही है और एक दूसरे पर भष्ट्राचार करने का आरोप लगा रही है। हाल ही में मोदी सरकार पर राफेल डील के मामले में विपक्ष को निसाना साधने का मौका मिल रहा है और कुछ दिन पहले सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में दोबारा जांच करने का आदेश दिया था। इसके बाद रूस के मीडिया में एक खबर से भारत में जबरदस्त तूफान आ गया है।

loading...

मीडिया की इस रिपोर्ट में दांवा किया गया है की फ्रांस के अधिकारियों ने अनिल अंबानी की सहायता करने के लिए उनका करोड़ों रूपये का कर्ज माफ किया है। हालांकि इस रिपोर्ट्स के बाद  फ्रांस और भारत की सरकार ने इसे गलत बताया है और कर्ज माफ से इनकार किया है। इस मामले में फ्रांस ने सफाई देते हुए कहा कि वहां के कर विभाग और रिलायंस की सहयोगी कंपनी के बीच कर छूट को लेकर वैश्विक सहमति बनने के बाद कर्ज माफ किया गया था। इस कर्ज माफी में किसी प्रकार का राजनीतिक हस्तक्षेप नहीं किया गया है।


भारतीय रक्षा मंत्रालय ने राफेल से जुड़ी खबरों को नकारते हुए कहा , टैक्स में छूट देने की अवधि और छूट की विषयवस्तु का वर्तमान सरकार द्वारा किए गए राफेल डील से किसी भी प्रकार का संबंध नहीं है। इस खबर के बाद भारत में लोकसभा चुनावों में विपक्ष को राफेल डील को लेकर एक फिर से मोदी सरकार को घेरने का मौका मिल गया है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

loading...