loading...

अंतरराष्ट्रीय दबाव के कारण चीन को याद आया मुंबई अटैक

Tuesday, 19 Mar 2019 09:34:33 AM
अंतरराष्ट्रीय दबाव के कारण चीन को याद आया मुंबई अटैक

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंटरनेट डेस्क। चीन ने चौथी बार वीटो का प्रयोग करके आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को 'वैश्विक आतंकी' घोषित होने से रोक दिया है। लेकिन इसके बाद चीन पर अंतरराष्ट्रीय दबाव आना शुरू हो गया और अब चीन भी भारत में हुए आतंकी हमलों के बारे में निंदा करने लग गया है। चीन ने मसूद अजहर को बचाने के बाद सुरक्षा परिषद के दूसरे सदस्य देशों के कड़े रूख के चलते चीन पहली बार भारत के साथ खड़ा होने के लिए तैयार हो रहा है। 

loading...


चीन ने पहली बार पाकिस्तान को झटका देते हुए एक ऐसा बयान दिया है जिससे देखकर लगा रहा है की वह आतंक को लेकर अपना रूख बदल रहा है। साल 2008 में पाकिस्तान में रहने वाले आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा ने भारत में अभी तक कई आतंकी हमलों की जिम्मेदारी ली है। लेकिन चीन ने पहली बार मुंबई हमले को 'अत्यंत भयानक' आतंकवादी हमला बताया है। 


चीन ने आतंकवादियों के खिलाफ व्यापक अभियान पर जारी श्वेत पत्र में चीन ने कहा है कि पिछले कुछ सालों में आतंकवाद को मानवता पर आघात पहुंचाया है। चीन ने अपने इस श्वेत पत्र में अब तक हुए आतंकी हमलों में से मुंबई आतंकवादी हमले को 'सबसे भीषण आतंकवादी हमलों' में सबसे खतरनाक बताया है। लेकिन चीन इस बार अंतरराष्ट्रीय दबाव के कारण आतंकवाद को लेकर भारत को सहायोग कर सकता है। लेकिन अब यह देखना होगी की जब पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी चीन की यात्रा पर जाते हैं तो चीन आतंकवाद को लेकर क्या वार्ता करता है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

loading...