पेट्रोल-डीजल लेने के लिए एनसीआर के दूसरे हिस्सों में जा रहे है दिल्ली के लोग, जानें वजह

Tuesday, 09 Oct 2018 09:32:50 AM
पेट्रोल-डीजल लेने के लिए एनसीआर के दूसरे हिस्सों में जा रहे है दिल्ली के लोग, जानें वजह
Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। देश के राजधानी दिल्ली में रहने वाले लोगों के लिए अपनी गाड़ियों के पेट्रोल-डीजल टैंक भरवाने के लिए राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के अन्य हिस्सों में जाना एक विकल्प बन गया है। इसके अलावा, एनसीआर में रहने वाले कुछ लोग जो पहले पेट्रोल और डीजल खरीदने के लिए दिल्ली आते थे, अब उन्होंने भी दिल्ली आना बंद कर दिया है।


दिल्ली के लोगों के लिए पेट्रोल-डीजल लेने के लिए एनसीआर के दूसरे हिस्सों में जाने की वजह हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोल और डीजल की कीमतों में  की गई कटौती है। इसके बाद से दिल्ली की तुलना में एनसीआर क्षेत्रों जैसी गाज़ियाबाद, नोएडा, गाज़ियाबाद, गुडगाँव और फरीदाबाद में पेट्रोल और डीज़ल की कीमतें काफी कम हो गई है। 

दिलचस्प बात यह है कि दिल्ली के अलावा एनसीआर में आने वाले सभी शहर भाजपा शासित है। जहां नोएडा, गाज़ियाबाद और मेरठ उत्तर प्रदेश का हिस्सा है वहीं गुडगाँव और फरीदाबाद हरियाणा के शहर है। 

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 4 अक्टूबर को पेट्रोल और डीजल की कीमतों पर 2.50 रुपये प्रति लीटर की कटौती की घोषणा के बाद कई अन्य राज्यों ने भी इनकी क़ीमतें कम कर दी थी। हरियाणा और उत्तर प्रदेश ने केंद्र सरकार के अलावा कीमतों में 2.50 रुपये प्रति लीटर की अतिरिक्त कटौती की थी। दिल्ली और इन जिलों में पेट्रोल-डीजल की कीमतों के बीच प्रति लीटर 2-3 रूपये का अंतर है और यही कारण है कि दिल्ली के लोग पेट्रोल-डीजल खरीदने इन हिस्सों में जा रहे है। 

इसी बीच, केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को दिल्ली में पेट्रोल-डीजल की कीमतों को कम करने के लिए आलोचना की है। उन्होंने अरविंद केजरीवाल सरकार के खिलाफ पेट्रोल और डीजल की कीमतों को कम नहीं करने के विरोध में राष्ट्रीय राजधानी में एक बैलगाड़ी रैली भी निकाली।  Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures