loading...

प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले 5 सालों में बदली चार गाड़िया, नई गाड़ी की कीमत जानकर उड़ जाऐंगे होश!

Thursday, 07 Nov 2019 04:20:51 PM

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

2014 में देश की बागडोर संभालने के बाद प्रधानमंत्री मोदी बीएमडब्ल्यू 7 सीरीज लग्जरी सेडान में सफर करते थे। वहीं 2017 में वे रेंज रोवर सेंटिनल एसयूवी से ही लालकिला पहुंचे और 2018 में भी इसी का इस्तेमाल किया। वहीं 2019 के स्वतंत्रता दिवस समारोह में उन्होंने टोयोटा लैंड क्रूज़र का इस्तेमाल किया। वहीं अब उनकी आधिकारिक सवारी बदल गई है। हाल ही में 5 नवंबर को थाईलैंड दौरे से भारत वापसी पर कुछ चैनल्स पर उनका एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें उनके पास नई टोयोटा लैंड क्रूजर को स्पॉट किया गया।

loading...

शर्त लगी थी… ज्यादा अंडे खाने की 42 वां अंडा खाते ही व्यक्ति की मौके पर ही मौत

खास बात यह थी इस साल स्वतंत्रता दिवस समारोह में वे लैंड क्रूजर में ही आए थे, लेकिन 5 नवंबर को वे नेक्स्ट जेनरेशन लैंड क्रूजर में दिखे। नई पीढ़ी वाली लैंड क्रूजर की एक्स-शोरूम कीमत 1.7 करोड़ रुपये है, जबकि इसकी ऑन-रोड कीमत तकरीबन दो करोड़ रुपये है। दिखने में यह आम लैंड क्रूजर जैसी लगती है, लेकिन असल में यह जबरदस्त बुलैटप्रूफ गाड़ी है। हालांकि टोयोटा मर्सडीज, लैंड रोवर और बीएमडब्ल्यू की तरह बख्तरबंद गाड़ियां नहीं बनाती है, संभवतया इसे किसी बाहर की एजेंसी से ऑर्मर्ड कराया गया है। 3.5 टन वाली लैंड क्रूजर में 4.5 लीटर का V8 इंजन लगा है, जो 262 बीएचपी की अधिकतम पावर और 650 एनएम का टॉर्क देता है।

इस गांव में हुई चांदी की बारिश, लोग सोकर उठे तो हैरान रह गए

वहीं इस कार यह फोर व्हील ड्राइव है और उबड़-खाबड़ सड़कों पर आसानी से दौड़ सकती है। वहीं बुलैटप्रूफ कराने में व्हीकल का वजन बढ़ जाता है, जिसके चलते इसे पावरफुल इंजन की जरूरत होती है।इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी रेंज रोवर सेंटिनेल में सफर करते थे, जिसमें 5.0 लीटर का सुपरचार्ज्ड V8 पेट्रोल इंजन आता है जो 375 बीएचपी की पावर जनरेट करता है। इसकी टॉप स्पीड 218 किमी प्रति घंटे की है। रेंज रोवर सेंटिनेल में VR8 बैलिस्टिक सुरक्षा दी गई है जो कि तात्कालिक विस्फोटक उपकरणों (IED) सहित वाहन को अधिकांश प्रकार के हमलों से सुरक्षित रख सकता है।

अब गाड़ी के पार्ट्स से छेड़छाड़ करने पर हो सकती है जेल, सरकार ला रही ये नियम

इससे पहले डॉ. मनमोहन सिंह ने BMW 7 सीरीज का इस्तेमाल किया था। यह पहली कार थी पूरी तरह से फुल बुलैटप्रूफ कार थी, जो ग्रेनेड का हमला झेलने में पूरी तरह से सक्षम थी। इस कार की बॉडी बहुत ही ज्यादा मजबूत और सुरक्षित होने के साथ इसका वजन काफी कम था। जिसके चलते ये गोली की स्पीड से भी दौड़ सकती थी। यहां तक कि टायर पंचर होने के बाद भी ये कार 90 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से 320 किमी तक दौड़ सकती थी।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


loading...